Festivals स्टेटस\शायरी

जानिए होली क्यों और कब मनाई जाती है-Why is Holi celebrated in hindi

हैल्लो दोस्तों आप सब लोगो के लिए हमारी टीम की तरफ से होली की हार्दिक शुभकामनाये आज हम इस पोस्ट में जानेंगे की आखिर होली का त्यौहार क्यों मनाया जाता है.

जैसा की हम  सब जानते है की भारत एक ऐसा देश है जिसे त्योहारों का देश बोला जाता है.पूरे साल में कई बड़े त्यौहार भारत के देशवाशी बड़े उत्साह और धूम धाम से मनाते है. जिसमे से एक है होली हम आपको बता दे की होली भारत में मनाई जाने बाली Most Popular त्योहारों में से एक है,जो प्रतिवर्ष भारत में हर्षोउल्लास के साथ मनाया जाता है. होली का त्यौहार रंग,गुलाल,प्रेम भाव और आस्था का प्रतीक है. जिसे भारत में हर उम्र के तथा सभी धर्म के लोग आपस में मिलकर भाईचारे के रूप में मनाते हैं. भारत के अलावा होली का त्योहार नेपाल में भी बड़े उत्साह के साथ मनाया जाता है. दो दिनों तक मनाये जाने वाले पहले दिन होलिका दहन किया जाता है। होलिका दहन बुराई पर अ’छाई की जीत को दर्शाता है। जिसमें लकड़ी की होलिका बनाकर उसे जलाया जाता है। वहीं दूसरी दिन को धुलेंडी या धूलिवंदन भी कहा जाता है। इस दिन लोग एक दुसरे पर रंग, गुलाल और अबीर आदि फेंकते है और ढोल बजा कर होली के गीत गाते है साथ ही घर-घर जाकर अपने दोस्तों और परिवारों आदि को भी रंग लगाया जाता है। भारत जैसे देश में होली का त्यौहार सभी के  जीवन में बहुत सी खुशियां और रंग भरता है.जिसे कारण इस रंग के त्यौहार को रंग महोत्सव भी कहा जाता है. परन्तु क्या आप जानते है की आखिर होली का त्यौहार क्यों मनाया जाता है. जैसा की हम आपको पहले भी बता चुके है की हर त्यौहार के पीछे कोई न कोई ऐतिहासिक कहानी जरूर जुडी होती है, ठीक इसी तरह होली के पीछे भी ऐतिहासिक कहानिया जुडी हुई है जिनके बारे में हम इस पोस्ट में विस्तार से बात करेंगे और ये जानेंगे की आखिर होली का त्यौहार क्यों और कब मनाय जाता है. तो आइये जानते होली के त्यौहार के बारे में कुछ ऐतिहासिक कहानिया।

2019 holi

होली का त्यौहार कब मनाया जाता है

रंगो के नाम से मशहूर होली का त्यौहार फाल्गुन मास की पूर्णिमा को  बड़ी धूम धाम से मनाया जाता है.होली त्यौहार की नींव वसंत पंचमी से राखी जाती है.वसंत पंचमी के बाद इसकी तैयारी शुरू हो जाती है. फाल्गुन मास की पूर्णिमा को यह त्यौहार पूरे भारत में बड़ी धूम धाम से मनाया जाता है.

Most Read

जानिए कैसे और क्यों मनाये होली

Happy Holi Whatsapp Status quotes & शायरी इन हिंदी

2019 में होलिका दहन

हिन्दु धार्मिक ग्रन्थों के अनुसार।2019 में होलिका दहन 20 मार्च बुधवार को पूरे भारत में किया जायेगा

होली का त्यौहार क्यों मनाया जाता है

होली का त्यौहार मुख्य रूप से हिन्दुओं का त्यौहार है और हिन्दू त्योहारों के पीछे देवी धर्म और आस्था होती है. वही होली में भी कुछ ऐसा ही वर्णन देखने को मिलता है. बैसे तो होली मनाये जाने के पीछे कई इतिहासिक कहानियां जुडी हुई है. लेकिन सबसे प्रचलित कहानी एक बालक और भगवान के प्रति श्रद्धा के प्रति है. तो आइये जानते उस कहानी के बारे में

ये भी पड़े

जानिए लोहड़ी कब क्यों और कैसे मनाते है

हिरण्यकश्यप प्राचीन भारत का एक राजा था जो की राक्षस की तरह था.वह अपने छोटे भाई की मौत का बदला लेना चाहता था.जिसे भगवान विष्णु ने मारा था. जिसके चलते उसने खुद को बलशाली बनाने के लिए सालो तक प्रार्थना की और अंत में उसे वरदान मिल गया जिसके चलते वह खुद को भगवान समकझने लगा था.और लोगो से भगवान् की तरह खुद का पूजन करने के लिए कहने लगा. दुष्ट हिरण्यकश्यप का एक पुत्र भी था जो की भगवान् विष्णु का परम भक्त था.अपने पुत्र प्रहलाद से विष्णु भक्ति छोड़ने के लिए कहा लेकिन प्रहलाद ने अपनी विष्णु भक्ति नहीं छोड़ी जिसके चलते उसने अपने बेटे के मारने का निर्णय किया और हिरण्यकश्यप ने अपने बेटे प्रलाह्द को मरने की तमाम कोशिशे की लेकिन भगवन विष्णु की कृपा से प्रल्हाद को कुछ नहीं हुआ अंत में हिरण्यकश्यप तमाम कोशिशों के बाद भी नहीं माना  और उसने अपने बेटे को मारने का काम अपनी बहन होलिका को यह काम सौंप दिया।हिरण्यकश्यप की बहन होलिका को एक वरदान प्राप्त था की वह आग में कभी नहीं जलेगी। हिरण्यकश्यप के आदेश पर होलिका प्रहलाद को जलती हुई आग पर लेकर बैठ गई. लेकिन उनकी यह योजना सफल नहीं हो सकी क्योंकि प्रह्लाद अपने प्रभु की भक्ति में लीन होते हैं जिसकी वजह से आग उसे छू भी नहीं सकी. वही होलिका उसी आग में जलकर भस्म हो जाती है जिसके बाद हिरण्यकश्यप का  भी भगवान् विष्णु वध कर देते है.इस तरह होलिका का आग में जलकर मरने और बुराई पर अच्छाई की जीत की वजह से ही भारत में होली मनाने के 1 दिन पहले होलिका दहन किया जाता है. होलिका दहन के दिन लोग लकड़ी के ढेर को जलाकर इस दिन अपने अंदर की बुराई को मिटाने का और अच्छे कर्म करने का संकल्प लेते हैं. 

लेकिन रंग होली का भाग कैसे बने

ऐसा माना जाता है की भगवान् विष्णु के अवतार भगवान श्री कृष्ण रंगो से होली मनाते है.इसी वजह से होली का त्यौहार रंगो के रूप में लोकप्रिय है.श्री कृष्ण अपने साथियों के साथ होली मनाते थे, और आज भी वृंदावन जैसी होली और कही नहीं मनाई जाती है. होली वसंत का त्यौहार है.इसके  आने पर सर्दिया भी ख़त्म हो जाती है.कुछ हिस्सों में इस त्यौहार का संबंध वसंत की फसल पकने से भी है। किसान अच्छी फसल पैदा होने की खुशी में होली मनाते हैं। होली को ‘वसंत महोत्सव’ या ‘काम महोत्सव’ भी कहते हैं।

आशा करता हूँ की आपको हमारी पोस्ट में होली क्यों और कब मनाई जाती है इसके बारे में पूरी जानकारी मिल गयी होगी आपको हमारी होली क्यों और कब मनाई जाती है जानकारी कैसी लगी हमे कमेंट करके जरूर बताये और अगर आपके पास भी होली से जुडी कोई जानकारी है तो उसे हमारे साथ जरूर शेयर करे. और हा हमारी इस पोस्ट को अपने दस्तो ोे परिवार वालो के साथ सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करे ताकि उन्हें भी ये पता चल सके की आखिर होली का त्यौहार कुओ मान्य जाता है. धन्यबाद 

About the author

Arvind Kumar

Hello friends My name is Arvind Kumar. Here I write related articles on festival, Technology, Health, and Study at YourHindi.Com.

1 Comment

  • जानिए होली क्यों और कब मनाई जाती है , बहुत ही अच्छी जानकारी आपने दी है

Leave a Comment